लघु कहानी : आदमी


एक कहानी आप सभी को सुनाता हू की एक गौव था उसका नाम आधा गाव था वहा कोई औरत, माँ, बहन, पत्नी , बेटी 

बच्ची, सहेली, कोई नहीं था बस था तो सिर्फ आदमी .....आदमी ......आदमखोर आदमी  ....बलात्कारी आदमी .............


                                                                                                                                   आशीष कान्त पाण्डेय 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ओले क्यों गिरते हैं?

आओ जानें डायनासोर की दुनिया

जानो पक्षियों के बारे में