बुधवार, 6 फ़रवरी 2013

टीचर भर्ती प्रक्रिया ने भी एक नया मोड़ ले लिया

     2013 महाकुम्भ का आयोजन इलाहाबाद की धरती पर हो रहा है। मौनी अमवस्या के स्नान का महत्व है। ये सब इतिहास बनने वाला है। वही टीचर भर्ती प्रक्रिया ने भी एक नया मोड़ ले लिया है। इलाहबाद हाई कोर्ट के खंडपीठ ने वर्तमान प्रक्रिया पर रोक  लगा दी। इस  तरह से 30 नवंबर 2011 के  विज्ञापन को रद्द कर नया चयन का आधार गुणांक से भरती  की मनसा पर पानी फिर गया। पिछले एक साल से कोर्ट में  केस चल रहा था और फिर विज्ञापन को रद्द कर नई सरकार ने मनमानी करने की कोशिश की।  शिक्षा के क्षेत्र में खासतौर पर प्राइमरी शिक्षा में भर्ती की कोई कार्यगर नीति सरकार के पास नहीं  है। 12 फ़रवरी को हाईकोर्ट में मामले की सुनवाई होनी है और उससे पहले मौनी अमवस्या का पर्व, इलाहबाद में रिकॉर्ड बनने वाला है। महाकुम्भ में आने वाले श्रद्धालु और सैलानियों की संख्या  और दूसरा है शिक्षक भरती प्रक्रिया में।