सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

सामान्य ज्ञान परीक्षा में पूछे जाने वाले पुस्तकें और उनके लेखकों के नाम



सामान्य ज्ञान परीक्षा में पूछे जाने वाले पुस्तकें और उनके लेखकों के नाम
1. पंचतंत्र: विष्णु शर्मा
2. पैराडाइज लोस्ट: जॉन मिल्टन
3. प्रोटेस्ट ऑफ इंडिया: वेद मेहता
4. रंग भूमि: प्रेमचंद
5. डी डार्क रूम: आर. के. नारायण
6. दि गोल्डेन गेट: विक्रम सेठ
7. दि जजमेंट: कुलदीप नैय्यर
8. दि मर्चेंट ऑफ वेनिस: स्टीफन स्पेंसर
9. दि ओरिजन ऑफ स्पीशीज: चाल्र्स डिकिन्स
1०. दि सेकंड वार्ल्ड वार: विस्टन चर्चिल
11. दि सोंग्स ऑफ इंडिया: सरोजिनी नायडू
12. लास्ट थिंग्स: सी. पी. स्नो
13. लोलिता: ब्लादमीर नवाबकोर
14. मालगुडी डेज: आर. के. नारायण
15. म्ौन एंड डेस्टिनी: जार्ज बर्नार्ड शा
16. मैल कैम्फ: एडोल्फ हिटलर
17. मदर इंडिया: कैथरीन मायो
18. माई म्युजिक, माई लाइफ: पंडित भीम सेन जोशी
19. नैवर एट होम: डोन मौरेस
2०. ओथ्ोलो: विलियम श्ोक्सपीयर
21. आनंद मठ: बंकिम चंद्र चटर्जी
22. डिस्करी ऑफ इंडिया: जवाहर लाल नेहरु
23 सुटेबल ब्वॉय: विक्रम सेठ
24. कितने पाकिस्तान: कमलेश्वर
25. ट्रेन टू पाकिस्तान: खुशवंत सिंह
26. द सिख टूडे: खुशवंत सिंह
27. द टनल टाइम: आर. के. लक्ष्मण
28. द नेक्ड फेस: सिडनी श्ोल्डन
29. मैन इज ए पॉलिटिकल एनिमल- अरस्तु
30. गोरा: रवींद्र नाथ टैगोर
31. गीत गोविंद: जयदेव
22. हर्ष चरित्र: बाण भट्ट
33. द पोस्ट ऑफिस: रवींद्र नाथ टैगोर
34. पंचतंत्र: विष्णु शर्मा
35. प्रिंसिपिया: न्यूटन
36. लाइफ डिवाइन: अरविंदो घोष
37. ब्ौचलर ऑफ आर्ट: आर. के नारायण
38. डेथ ऑफ सिटी: अमृता प्रीतम
39. एसे ऑफ गीता: अरविंदो घोष
40. माई ट्रुथ: इंदिरा गांधी
41.द आइडिया ऑफ जस्टिस: अमत्र्य सेन
42. द टेस्ट ऑफ माई लाइफ: युवराज सिंह
43. रत्नावली : हर्षवर्धन
44. बुद्ध चरित्र: अश्वघोष
45. मुद्रा राक्षस: विशाखा दत्त
46. मृच्छकटिकम्: शूद्रक
47. पदमावती: मलिक मोहम्मद जायसी
48. कुली: मुल्कराज आनंद
49. वन लाइफ इज नॉट इनफ: नटवर सिंह
50. गेटिंग इंडिया बैक ऑन ट्रैक: रत्न टाटा
51. अन हैप्पी इंडिया: लाला लाजपत राय
52. पोवर्टी एंड अन-ब्रिटिश रूल इन इंडिया: दादाभाई नौरोजी
53. इंडियन फिलास्फी: डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन
54. डिस्कवरी ऑफ इंडिया: जवाहर लाल नेहरु
55. की टू हेल्थ: महात्मा गांधी
56. रामायण: वाल्मीकि
57. महाभारत: वेद व्यास
58. रामचरित्र मानस: तुलसीदास
59. डिवाइन कॉमेडी: दांते
60. इलियड: होमर
61. विग्स ऑफ फायर: ए.पी.जे. अब्दुल कलाम
62. ए हाउस फार मिस्टर बिस्वास: वी.एस. नायपाल
63. एलजिब्रा ऑफ इनफाइनाइट जस्टिस: अनिता देसाई
64. दि गोल्डन गेट: विक्रम सेठ
65. चंद्रकांता: देवकीनंदन खत्री
66. क्रिकेट माई स्टाइल: सचिन तेंदुलकर
67. न खत्म होने वाली कहानी : वी.पी. सिह
68. भारत-भारती: मैथिलीशरण गुप्त
69. प्रिजन डायरी: जयप्रकाश नारायण
70. द ओरिजिन ऑफ द स्पीशीज: डार्विन
71. बिजनेस स्पीड ऑफ थॉट: बिल गेटस
72. स्पीड पोस्ट: शोभा डे
73. विदाउट फीयर आर फेवर: नीलम संजीव रेडडी
74. टू ए हांगर फ्री वर्ल्ड: एम.एस. स्वामीनाथन
75. माइ कंट्री, माइ लाइफ: एल.के. आडवाणी
76. फरिश्ता: कपिल इसापुरी
77. राजेश खन्ना: कुछ तो लोग कहेंगे: यासिर उस्मान
78. द ड्रैमेटिक डिकेड: द इंदिरा गांधी ईयसã: प्रणब मुखर्जी
79. द नैरो रोड टू द डीप नॉर्थ: रिचर्ड फ्लैनागन
80. फाइनल टेस्ट: एक्जिट सचिन तेंदुलकर: दिलीप डिसूजा
81. विग्स ऑफ फायर: ए.पी.जे. अब्दुल कलाम
82. ए हाउस फार मिस्टर बिश्वास: वी.एस. नायपाल
83. एलजिब्रा ऑफ इनफाइनाइट जस्टिस: अरुंधती राय
84. दि गोल्डन गेट: विक्रम सेठ
85. भारत-भारती: म्ौथिलीशरण गुप्त
86. प्रिजन डायरी: जयप्रकाश नारायण
87. द ओरिजिन ऑफ द स्पीशीज: डार्विन
88. स्पीड पोस्ट: शोभा डे
89. विदाउट फीयर आर फेवर: आर. वेंकटरमन
90. टू ए हांगर फ्री वर्ल्ड: एम. एस. स्वामीनाथन
91. माइ कंट्री, माइ लाइफ: एल. के. आडवाणी
92. माई लाइफ: बिल किलंटन
93. माई म्यूजिक, माई लाइफ: पं. रविशंकर
94. द हंगरी टाईड: अमिताभ घोष
95. एशियन ड्रामा: गुन्नार कार्ल मिर्डल
96. वन नाईट दि काल सेंटर: चेतन भगत
97. इंडिया रिमेम्बर्ड: जे. के. रौलिग
98. इंडिका: मेगास्थनीज
99. कादंबरी: बाढ़भट्ट 
100. प्लेइंग इट माय वे: सचिन तेंदुलकर
101. यामा: महादेवी वर्मा
102. सूर-सागर: सूरदास
103. दीवान-ए-गालिब: मिर्जा गालिब
104. सूरज का सातवां घोड़ा: धर्मवीर भारती
105. मृत्यंजय: विरेंद्र कुमार भट्टाचार्य
106. अभी बिल्कुल अभी: केदारनाथ सिंह
107. व्हाइट टाइगर: अरविंद अडिगा
108. द गाइड: आर. के. नारायण
109. इंस्पायरिंग थॉट्स: ए. पी. जे. अब्दुल कलाम
110. ड्रीम ऑफ माइ फादर: बराक ओबामा
111. द गोल्डेन गेट: विक्रम सेठ
112. ए हिमालयन लव स्टोरी: नमिता गोखले
113. ए शॉट एट हिस्ट्री: अभिनव बिंद्रा
114. क्रिकेट माइ स्टाइल: कपिल देव
115. हाफ ए लाइफ: वी. एस. नायपाल
116. पंचतंत्र: विष्णु शर्मा
117. उत्तररामचिरत्: भवभूति
118. बुद्धचरित: अश्वघोष
119. आईन-ए-अकबरी: फैजी
120. हर्षचरित: बाणभट्ट
 121. ग्रेट सोल-महात्मा गांधी एंड हिज स्ट्रगल विद इंडिया: जोसेफ लेलिवेल्ड
122. अर्थशास्त्र: कौटिल्य
123. अष्ठाध्यायी: पणिनी
124. फाल ऑफ स्पैरा: सलीम अली
125. गीता रहस्य: बाल गंगाधर तिलक
126. कोरे कागज: अमृता प्रीतम
127. कुमार संभव: कालिदास
128. माई अरली लाइफ: एम. के. गांधी
129. माई ट्रुथ: इंदिरा गांधी
130. अवर फिल्म, देयर फिल्म: सत्यजीत रे
131. प्रेम पच्चीसी: प्रेमचंद
132. सत्यार्थ प्रकाश: स्वामी दयानंद
133. सावित्री: अरविंदो घोष
134. अनहैप्पी इंडिया: लाला लाजपत राय
135. इंडिया डिवाइडेड: लाला लाजपत राय
136. गीता रहस्य: बाल गंगाधर तिलक
137. द डॉटर ऑफ इस्ट: बेनजीर भुट्टो
138. शीश महल: अमिताभ घोष
139. आषाढ़ का एक दिन: मोहन राकेश
140. रसीदी टिकट: अमृता प्रीतम

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ओले क्यों गिरते हैं?

जानकारी

रिंकी पाण्डेय
ओले क्यों गिरते हैं?

बच्चो, कई बार बारिश के दौरान अचानक पानी की बूंदों के साथ बर्फ के छोटे-छोटे गोले भी गिरते हैं। इन्हें हम ओले कहते हैं। ये ओले आसमान में कैसे बनते हैं और ओले क्यों गिरते हैं? तो आओ ओले के बारे में पूरी बात जानें।

-------------------------------------------------------------------------------------------

बच्चों, तुम जानते हो कि बर्फ पानी के जमने से बनता है। अब तुम्हारे मन में ये प्रश्न उठ रहा होगा कि आसमान में ये पानी कैसे बर्फ बन जाता है और फिर गोल-गोले बर्फ के टुकड़ों के रूप में ये धरती पर क्यों गिरते हैं? तुमने जैसा कि पढ़ा होगा कि पानी को जमने के लिए शून्य डिग्री सेल्सियत तापमान होना चाहिए, तुमने फ्रीजर में देखा होगा कि पानी के छोटे-छोटे बूंदें बर्फ के गोले के रूप में जम जाता है, ऐसा ही प्रकृति में होता है। हम जैसे-जैसे समुद्र के किनारे से ऊपर यानी ऊंचाई की ओर बढ़ते हैं, तब जगह के साथ ही तापमान धीरे-धीरे कम होता जाता है। तुम इसे ऐसे समझ सकते हो, लोग गर्मी के मौसम में पहाड़ों पर जाना पसंद करते हैं, क्यों? इसलिए कि पहाड़ पर तापमान कम होता है, यानी मैदान…

जानो पक्षियों के बारे में

जानकारी


बच्चो, इस धरती में कई तरह के पक्षी हैं, तुम्हें जानकर आश्चर्य होगा कि हमिंग बर्ड नाम की पक्षी किसी भी दिशा में उड़ती है, तो कुछ पक्षी ऐसे हैं, जो अपने कमजोर पंख की वजह से उड़ नहीं पाते हैं। चलते हैं पक्षियों के ऐसे अजब-गजब संसार में और जानते हैं कि ये पक्षी कौन हैं?
-----------------------------------------------------------------------

हवा में उड़ते हुए तुमने सैकड़ों पक्षियों को देखा होगा। लेकिन कई ऐसे पक्षी भी हैं, जो उड़ नहीं सकते, तो कुछ किसी भी दिशा में उड़ सकते हैं। तुम्हें जानकर हैरानी होगी कि रेटाइट्स बर्ड परिवार से जुड़े विशालकाय पक्षी कभी उड़ा भी करते थे। पर समय गुजरने के साथ-साथ ये जमीन पर रहने लगे। इस कारण से इनका शरीर मोटा होता गया। उड़ान भरने वाले पंख बेकार होते गए और वो छोटे कमजोर पंखनुमा बालों में बदल गए। इनके बारे में तुम जानते हो, शतुर्गमुर्ग, जो ऑस्ट्रेलिया में पाया जाता है। यह उड़ नहीं सकता है लेकिन जमीन पर ये 7० किलोमीटर घंटे की गति से दौड़ सकता है। ऐसे ही कई रेटाइट्स बर्ड परिवार से जुड़े पक्षी की लंबी लिस्ट हैं, जिनमें पेंग्विन, इम्यू, कीवी, बतख आदि आते हैं।

पेंग्विन उड़त…

आओ जानें डायनासोर की दुनिया

अभिषेक कांत पाण्डेय
स्टीवन स्पीलबर्ग की जुरासिक पार्क फ्रेंचाइजी की नई फिल्म 'जुरासिक वर्ल्ड’ इन दिनों खूब धूम मचा रही है। इससे पहले भी एक फिल्म 'जुरासिक पार्क’ आई थी, जिसने पूरी दुनिया में डायनासोर नाम के जीव से परिचय कराया था। तुमने भी वह फिल्म देखी होगी, आखिर कहां चले गए ये डायनासोर, कैसे हुआ इनका अंत... इनके बारे में तुम अवश्य जानना चाहोगे।


कई तरह के थे डायनासोर

स्टीवन स्पीलबर्ग की जुरासिक पार्क फ्रेंचाइजी की नई फिल्म 'जुरासिक वर्ल्ड’ इन दिनों खूब धूम मचा रही है। इससे पहले भी एक फिल्म 'जुरासिक पार्क’ आई थी, जिसने पूरी दुनिया में डायनासोर नाम के जीव से परिचय कराया था। तुमने भी वह फिल्म देखी होगी, आखिर कहां चले गए ये डायनासोर, कैसे हुआ इनका अंत... इनके बारे में तुम अवश्य जानना चाहोगे।

डायनासोर की और बातें
.इनके अब तक 5०० वंशों और 1००० से अधिक प्रजातियों की पहचान हुई है।
.कुछ डायनासोर शाकाहारी, तो कुछ मांसाहारी होते थे जबकि कुछ डायनासारे दो पैरों वाले, तो कुछ चार पैरों वाले थे।
.डायनासोर बड़े होते थे, पर कुछ प्रजातियों का आकार मानव के बराबर, तो उससे भी छोटे होते…